छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपा

जिला शिक्षा अधिकारी का अनोखा फरमान, डीईओ कार्यालय के बाबू और चपरासी को दिया गया महत्वपूर्ण कार्यों का प्रभार

जांजगीर-चांपा। जिला मुख्यालय जांजगीर में जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा 13 मार्च को जारी एक आदेश की चर्चा शहर में खूब हो रही है। इस आदेश में जहां एक बाबू को भवन खंड का प्रभार दे दिया गया है। बाबू के संबंध में बताया जाता है कि वह डीईओ कार्यालय जांजगीर में अटैच है। तो वहीं भृत्य को जीपीएफ जैसे महत्वपूर्ण कार्य का प्रभार सौंपा गया है। इससे समझा जा सका है कि जांजगीर के डीईओ कार्यालय में ऐसा कोई योग्य कर्मचारी नहीं रह गया है, जिसे ये महत्वपूर्ण कार्य दिया जा सके।  

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय अपने कारनामों को लेकर आए दिन सुर्खियों में रहता है। अभी 13 मार्च को जिला शिक्षा अधिकारी के हस्ताक्षर से जारी एक महत्वपूर्ण आदेश संबंधी पत्र की खूब चर्चा है। इस आदेश में सहायक ग्रेड 3 के पद पर कार्यरत किसलय धृतलहरे को भवन खंड का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। जबकि कहा जा रहा है यह बाबू डीईओ कार्यालय में अटैच है। इसी तरह भृत्य के पद पर कार्यरत राजेश कुमार वर्मा को अकलतरा जीपीएफ का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। इन दोनों कर्मचारियों को महत्वपूर्ण कार्य का प्रभार देने के संबंध में कुछ लोगों का कहना है कि जिले के शिक्षा विभाग में कोई योग्य कर्मचारी नहीं है, जिसके चलते अटैच बाबू और चपरासी को महत्वपूर्ण कार्य देकर कहीं न कहीं उपकृत करने का प्रयास किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *