छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपा

मृत व्यक्ति के नाम केसीसी लोन मामले में फिर हुई जांच, बिलासपुर सीईओ के निर्देश पर दो ब्रांच मैनेजर नियुक्त हुए जांच अधिकारी

जांजगीर-चांपा। मृत व्यक्ति के नाम 1 लाख 35 हजार केसीसी लोन निकालकर हजम करने के मामले में नए सिरे से जांच शुरू हो गई है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर सीईओ के निर्देश पर आज जिला सहकारी केंद्रीय बैंक चांपा में दो सदस्यीय जांच टीम पहुंची। जांच टीम में कोरबा के नोडल अधिकारी सुशील जोशी एवं मुलमुला के शाखा प्रबंधक रेशमलाल तिवारी शामिल हैं।

जांच टीम के दोनों अधिकारियों ने बारी बारी सेवा सहकारी समिति सिवनी के समिति प्रबंधक ललित देवांगन सहित अन्य लोगों का बयान दर्ज किया तो वहीं बयान के आधार पर दस्तावेज भी एकत्रित किया गया। इसी तरह जिला सहकारी बैंक चांपा के शाखा प्रबंधक सहित कर्मचारियों का बयान और दस्तावेज स्वीकार किया। जांच अधिकारियों ने बताया कि जांच की कार्रवाई पूरी कर दस्तावेज जिला सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर सीईओ को प्रस्तुत किया जाएगा। जांच रिपोर्ट के आधार पर मामले में आगे कार्रवाई की जाएगी।

कार्रवाई का अता पता नहीं
आपकों बता दें कि सहकारी संस्थाएं जांजगीर के उप पंजीयक के निर्देश पर पहले ही इस पूरे मामले में जांच पूरी हो गई है, जिसमें सिवनी के समिति प्रबंधक ललित देवांगन और जिला सहकारी बैंक चांपा के दो कैशियर सहित चार कर्मचारियों को दोषी ठहराया गया है। इस पूरे मामले में बैंक के शाखा प्रबंधक की भूमिका को भी संदिग्ध बताया गया है, जिसके चलते उप पंजीयक ने उसके खिलाफ जांच की अनुशंसा बिलासपुर बैंक के सीईओ से की थी। अब देखना काफी दिलचस्प होगा कि इस नई जांच में और कौन सा तथ्य सामने आता है और उनके खिलाफ किस तरह की कार्रवाई होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *