छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपाबिलासपुररायपुर

नाले में बनी सड़क का उपयोग लोक प्रयोजन के बजाय निजी प्लाट में रहने वाले ही करेंगे, शासन के पत्र अनुसार स्वमेव निरस्त है अनुमति, जानिए पूरा मामला

चौथा स्तंभ न्यूज तीसरी किश्त

जांजगीर-चांपा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ड्रीम प्रोजेक्ट नरवा, गरवा, घुरवा व बारी में से नरवा के अस्तित्व को ही समाप्त कर अंजाने में शासन ने ही वहां सड़क व नाली निर्माण की अनुमति दे दी है। शासकीय नजूल भूमि खसरा नंबर 169 पर स्थित नाले के अस्तित्व को समाप्त कर बनाई गई फोरलेन सड़क निर्माण की अनुमति देते समय छग शासन राजस्वएवं आपदा प्रबंधन विभाग के पत्र में तीन शर्तें तय की गई है। पत्र में स्पष्ट उल्लेख है किसी भी शर्त के उल्लंघन पाए जाने पर अनुमति स्वमेव निरस्त समझी जाएगी। लेकिन यहां तो पहली ही शर्त की पूर्ति नहीं होगी।

लोगों की मानें तो चांपा में शासकीय नजूल भूमि खसरा नंबर 169 पर स्थित नाले पर बनाई गई चमचमाती फोरलेन सड़क का निर्माण लोक प्रयोजन के बजाय सिर्फ निजी प्लाट मालिक को फायदा पहुंचाने के लिए ही किया गया है। क्योंकि नजूल भूमि से लगा एक बहुत बड़ा निजी प्लाट है, जिसमें चांपा के सबसे बड़े प्रोजेक्ट का काम चल रहा है। दो साल पहले तत्कालीन एसडीएम ने नगरपालिका की अनापत्ति को खारिज करते हुए बनाए गए कच्चे रास्ते पर स्टे लगा दिया था, तब प्रोजेक्ट का 75 फीसदी काम रूक गया था। इसी 75 फीसदी प्रोजेक्ट के काम को गति देने तत्कालीन एसडीएम और सीएमओ के यहां नहीं रहने पर फिर से एसडीएम के आदेश की धज्जियां उड़ाते हुए पहले नपा से अनापत्ति मिली। फिर इसी के आधार पर कलेक्टर नजूल शाखा से भी अनापत्ति जारी कर दी गई।

निजी प्लाट के इस विशाल प्रोजेक्ट को फायदा पहुंचाने के ध्येय से बनाई गई सड़क व नाली निर्माण की अनुमति देते समय छग शासन राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के पत्र क्रमांक/69/आर नं.1550/सात-1/2022 नवा रायपुर दिनांक 10.01.2023 में तीन शर्तें तय की गई है। इसमें पहली शर्त प्रस्तावित भूमि पर नाली एवं सड़क का निर्माण लोक प्रयोजन के कार्य के लिए किए जाने का उल्लेख है। साथ ही प्रस्तावित प्रयोजन से भिन्न प्रयोजन में उपयोग न लाने की हिदायत भी दी गई है। वहीं कंडिका 4 में स्पष्ट उल्लेख है कि उक्त तीन शर्तों में से किसी भी शर्त का उल्लंघन पाए जाने पर यह अनुमति स्वमेव निरस्त हो जाएगी। यहां तो बनाई गई उक्त फोरलेन सड़क का उपयोग लोक प्रयोजन के बजाय उस निजी प्लाट में रहने वाले ही करेंगे। इसलिए यह अनुमति स्वमेव निरस्त है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *