छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपा

दुकान, होटलों में कमर्शियल नहीं घरेलू सिलेंडर खप रहा, खाद्य विभाग की लापरवाही से गैस की ब्लैक मार्केटिंग जोरों पर…

जांजगीर-चांपा। खाद्य विभाग की लापरवाही के कारण घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर एजेंसी के अलावा कई प्रकार की दुकानों में आसानी से उपलब्ध हो जाता है। बस कीमत अधिक चुकानी पड़ती है। कार्डधारकों को समय पर भले ही सिलेंडर न मिले, लेकिन ब्लैक में जिले की कई दुकानों में बारहों माह सिलेंडर खरीदा जा सकता है।

एलपीजी गैस अब आम लोगों की जरूरतों में शामिल हो गया है। सरकार गरीबों को भी गैस कनेक्शन उपलब्ध कराती है। इसके अलावा केंद्र सरकार ने गैस सिलेंडर की कालाबाजारी रोकने व कार्डधारकों को समय पर गैस मिल सके, इसके लिए गैस की सब्सिडी देने की घोषणा की है। सब्सिडी की राशि सीधा उनके खाते में जमा होगी। शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को भी आसानी से सिलेंडर उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण एरिया में भी एजेंसी प्रारंभ किए गए हैं। इस समय हिन्दुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन आयल, भारत पेट्रोलियम की कई एजेंसियां जिले में चल रही है। इसके बाद भी समय पर सिलेंडर नहीं मिल पा रहा है। एजेंसियों में अक्सर सिलेंडर का अभाव रहता है। 16 लाख की आबादी वाले जिले में सभी कंपनियों के हजारों उपभोक्ता हैं। जिसमें सिंगल, डबल के अलावा व्यवसायिक कनेक्शनधारी शामिल हैं। जिला मुख्यालय में कई दुकानों में रसोई गैस का सिलेंडर किसी भी समय खरीदा जा सकता है। इन दुकानों में सिलेंडर खुलेआम बेचने के लिए रखे रहते हैं पर किसी का ध्यान इस ओर नहीं जाता है, कार्रवाई करना तो दूर ऐसे लोगों को चेतावनी तक नहीं दी जा रही है। जबकि यहां कार्रवाई का अधिकार खाद्य विभाग का है, लेकिन जिले के जिम्मेदार अफसरों को इसके लिए फुर्सत तक नहीं है।

होटलों की नहीं होती जांच

जिले भर में बड़ी संख्या में होटल ढाबे चल रहे हैं, इन होटल संचालकों ने ईंधन के लिए व्यवसायिक कनेक्शन तक नहीं लिया है, लेकिन बेधड़क गैस का उपयोग करते हैं। चाहे होटलों में सफाई की बात हो या फिर होटलों के खाद्य सामग्री की जांच इन सारे मामलों में विभागी अमला काफी पीछे है। जिसकी वजह से होटल में मनमाने ढंग से घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग किया जाता है। उन्हें न नियमों की परवाह है और न ही प्रशासन का खौफ, जिससे होटलों में घरेलू गैस सिलेंडर का नजारा अब आम हो गया है। होटल संचालक नीले रंग के ज्यादा वजनी सिलेंडर का उपयोग करना ही भूल गए है। अब तो बस उन्हें घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग ही सुविधाजनक लगता है।

उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा

होटल में घरेलू गैस सिलेंडर के बेजा उपयोग से शहर में घरेलू गैस सिलेंडर होटलों में खपाए जाने से समय पर उपभोक्ताओं को सिलेंडर के लिए मुश्किलें होती है। शहर में घरेलू गैस सिलेंडर की खपत बढ़ने व ऐनवक्त पर गैस सिलेंडर उपलब्ध नहीं होने से उपभोक्ताओं पर भी इसका असर पड़ा है। जहां होटल में इन सिलेंडरों के उपयोग से उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *