छत्तीसगढ़सक्ती

जैजैपुर क्षेत्र के छोटे पाड़ाहरदी गांव की बेटी मन्दाकिनी चन्द्रा ने दृढ़ संकल्प और सतत मेहनत की बदौलत हासिल की पीएचडी की उपाधि

अनिल चन्द्रा@जैजैपुर। दृढ़ संकल्प और सतत् मेहनत ही सफलता का मुख्य द्वार है, इस कथन को चरितार्थ करते हुए ग्राम पाँड़ाहरदी की बेटी डॉ. मंदाकिनी चन्द्रा पिता रामकुमार चन्द्रा के पी.एच.डी. की डिग्री हासिल करके डाक्टरेट की मानक उपाधि हासिल कर ली।

बचपन से प्रतिभाशाली रही डॉ मंदाकिनी चन्द्रा की प्राथमिक शिक्षा अपने गृह ग्राम- पाँडाहरदी में एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय की पढ़ाई ग्राम गुचकुलिया में सम्पन्न हुआ इसके आगे की पढ़ाई के लिए उन्होंने कोरब की ओर रुख किया। 9वीं से12वी तक कोरबा में पढ़ाई पूरी की।उसके बाद शहर के ही मिनीमाता शास. कन्या महाविद्यालय कोरबा से बी. कॉम एवं एम. कॉम की डिग्री के साथ एम फील की डिग्री प्राप्त की। उसके बाद पीएचडी करने की सोंची और प्रदेश के अव्वल दर्जे का विश्वविद्यालय पं. रवि शंकर विश्व विद्यालय रायपुर से वाणिज्य संकाय के तहत भारत एल्युमिनियम कम्पनी लिमिटेड बाल्को का वित्तीय विश्लेषण पर शोध करके अपनी पीएचडी की डिग्री प्राप्त की। उनकी इस उपलब्धि से उन्होंने समाज एवं अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया है।अपनी सफलता का श्रेय उन्होंने भगवान,गुरुजन, मातापिता, एवं इष्ट मित्रों को दिया है।पिछले आठ वर्षों से डॉ मन्दाकिनी चन्द्रा मिनीमाता शा.कन्या महाविद्यालय कोरबा के वाणिज्य संकाय के अतिथि व्याख्याता के रूप में कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *