छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपाराज्य एवं शहर

चांपा के सरस्वती शिशु मंदिर में हुआ पूर्व छात्र छात्राओं का सम्मेलन, एक मुकाम हासिल कर चुके यहां के छात्रों ने शामिल होकर सहयोग करने की घोषणा

चांपा। नगर के ह्रदय स्थल में स्थित सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चांपा में सरस्वती शिक्षा संस्थान की योजनानुसार ”मेरा विद्यालय मेरा तीर्थ” कार्यक्रम के अनुक्रम में सरस्वती सेवा मंडल एवं सरस्वती शिशु मंदिर के पूर्व छात्र छात्राओं के संयुक्त तत्वावधान में 25 फरवरी 2024, रविवार को ”पूर्व छात्र सम्मेलन” आयोजित हुआ ।

उद्घाटन सत्र का शुभारम्भ माँ सरस्वती, भारत माता एवं प्रणव (ॐ) के तैल्यचित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से हुआ । दीप प्रज्जवलन पश्चात सरस्वती वंदना, अतिथियों का स्वागत एवं परिचय, प्राचार्य अश्विनी कश्यप द्वारा प्रस्तावना, मुख्य अतिथि  व्यास कश्यप जी (विधायक चांपा विधानसभा) द्वारा उदबोधन, मुख्य वक्ता डॉ. देवनारायण साहू (संगठन मंत्री सरस्वती शिक्षा संस्थान छत्तीसगढ़ प्रान्त) द्वारा पूर्व छात्र सम्मेलन का महत्व, तिलभाण्डेश्वर बाल कल्याण समिति के सचिव डॉ. शांति कुमार सोनी द्वारा अध्यक्षीय आशीर्वचन, तत्पश्चात प्रथम आठवीं उत्तीर्ण 1989 बैच के पूर्व छात्र भैया बहिनों का सम्मान, पूर्व आचार्य एवं दीदीयों का सम्मान, सरस्वती सेवा केंद्र के बच्चों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम संपन्न हुआ । मंच पर मुख्य अतिथि व्यास कश्यप, डॉ. देवनारायण साहू, तिलभांडेश्वर बाल कल्याण समिति के माननीय अध्यक्ष हनुमान कुमार देवांगन, सचिव डॉ. शांति कुमार सोनी, प्राचार्य अश्विनी कश्यप, परिचय मिश्रा (प्रान्त संयोजक पूर्व छात्र परिषद्) उपस्थित रहे । समापन सत्र में पूर्व छात्रों के द्वारा अनुभव कथन का कार्यक्रम हुआ जिसमें अनेकों पूर्व छात्र भैया बहिनों ने अपने अनुभवों को सभी के मध्य साझा किया । मंचासीन मुख्य अतिथि व्यास कश्यप ने कहा जो संस्कार शिशु मंदिर के बच्चों में देखने को मिलता है शायद ही कहीं हमें देखने को मिलता होगा । उन्होंने कहा कि मैं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एक स्वयंसेवक हूँ और सामान्य कृषक परिवार से आता हूँ साथ ही सामान्य लोगों के मध्य रहना पसंद करता हूँ इसी कारण मैं आज विधायक के रूप में आपके सामने हूँ । उन्होंने कहा मैं मानसिक रूप से आज भी संघ की विचारधाराओं को आत्मसात करके रखा हूँ । उन्होंने सरस्वती सेवा मंडल द्वारा संचालित सेवा केंद्रों को सुचारु रूप से चलाने के लिए एवं आचार्य कल्याण कोष के लिए अपने व्यक्तिगत मद से आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा इसी मंच से की । कार्यक्रम में मंचासीन अतिथियों के अलावा दिवाकर स्वर्णकार (प्रान्त खेल प्रमुख), तिलभांडेश्वर बाल कल्याण समिति के नंदकुमार देवांगन (उपाध्यक्ष), गोपीचंद बरेठ (कोषाध्यक्ष), कमललाल देवांगन (सहसचिव), रविंद्र शराफ (सदस्य), दिनेश सिंह चंदेल (सदस्य), राजेंद्र सिंह ठाकुर (पूर्व प्राचार्य), कृष्णकुमार पांडेय (प्रधानाचार्य), देवेंद्र कुमार सोनी (प्रधानाचार्य), पूर्व आचार्यों में हेमप्रकाश तिवारी, लक्ष्मीनारायण तिवारी, तीजराम पटेल, रामकुमार साहू (प्राचार्य, खरौद), श्रीमती पूनम राठौर (प्राचार्य केरा), रंजीत कश्यप, अवधेश शर्मा, देवाशीष पांडेय, रामेश्वर केंवट, विश्वनाथ पटेल, रामप्रसाद माली, सुरेंद्र वैष्णव सहित 45 पूर्व आचार्य-दीदी विशेष रूप से उपस्थित रहे । पूर्व छात्र परिषद प्रमुख मनहरण दुबे, सहयोगी पुरुषोत्तम देवांगन आचार्य का मार्गदशन पुरे कार्यक्रम के दौरान विशेष रूप से रहा। कार्यक्रम प्रातः 9 बजे से शाम 5 बजे तक चलता रहा । कार्यक्रम के आकर्षण में कक्षा कक्षों का सजावट, शिशु वाटिका प्रदर्शन, बैच अनुसार फोटो शूटिंग, भव्य रंगोली, सांस्कृतिक कार्यक्रम, यूट्यूब एवं फेसबुक पर सीधा प्रसारण, प्रोजेक्टर पर सन्देश, सुझाव पेटी, सेल्फी पॉइण्ट इत्यादि रहा जिसका पूर्व छात्र-छात्राओं, पूर्व आचार्य-दीदी, वर्तमान आचार्य-दीदी, विद्यालय स्टॉफ सभी ने मिलकर खूब आनंद लिया । यूट्यूब पर सीधा प्रसारण का लाभ 2000 से अधिक लोगों ने लिया । सम्मेलन में पंजीयन काउंटर की व्यवस्था थी जिसमें 647 लोगों ने रजिस्टर में तथा 194 लोगों ने ऑनलाइन पंजीयन कराया । भोजन की व्यवस्था विद्यालय के भगिनी निवेदिता सभाकक्ष में की गयी थी जिसमें 1500 से अधिक लोगों ने बैठकर एक साथ भोजन का आनंद लिया । सरस्वती सेवा मंडल के कार्य को गति प्रदान करने के लिए सन 1989 बैच के दिलीप मलुकानी ने साल 2023 में एक लाख का चेक प्रदान किया था साथ ही इतनी ही धनराशि प्रति वर्ष देने का वचन भी लिया था इसी क्रम में सन 1992 उत्तीर्ण बैच के पूर्व छात्रों द्वारा 51000 इस वर्ष 2024 में सेवा मंडल को दिया गया, साथ ही सन 1998 उत्तीर्ण बैच के पूर्व छात्रों द्वारा 15000 इस वर्ष 2024 में एवं प्रति वर्ष 15000 की राशि देने की घोषणा मंच से की । इसी के अगले क्रम में सन 2000 उत्तीर्ण वर्ष के पूर्व छात्रों द्वारा सेवा बस्ती के बच्चों के लिए पढाई से सम्बंधित सामग्री देने की बात की । कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए वर्तमान आचार्य-दीदी, विद्यालय स्टॉफ का योगदान सराहनीय रहा साथ ही एक व्यवस्था समिति बनाई गयी थी जिसमें राकेश कुमार सोनी (धीरज), गिरिजाशंकर देवांगन, जितेंद्र सोनी, विवेक शर्मा (पत्रकार), निखिल अग्रवाल (संयोजक सरस्वती सेवा मंडल), मोहनीश चंदानी (सह संयोजक सरस्वती सेवा मंडल), प्रमोद खूबचंदानी, सुशील देवांगन, चंद्रकांत साहू, गोपाल देवांगन, डॉ. सुमित गुलाबानी, डॉ. लेखचंद साहू, सी.ए. नवनीत सोनी (निधि प्रमुख सरस्वती सेवा मंडल), अनिल सोनी, शशिकांता सोनी, चंद्रकांता सोनी, डॉ. लक्ष्मीप्रियम स्वर्णकार, अंकुर सिंह ठाकुर, भगवान सिंह ढिल्लो, कोमल देवांगन, अतुल सोनी प्रमुख रूप से रहे । साथ ही अनेकों पूर्व छात्र भैया बहिनों का प्रत्यक्ष – अप्रत्यक्ष रूप से विशेष सहयोग प्राप्त हुआ सरस्वती सेवा मंडल आप सभी का हृदय से आभारी है साथ ही भविष्य में आप सभी का सहयोग प्राप्त होता रहे ऐसी अपेक्षा करते है ताकि सरस्वती सेवा मंडल के के कार्य एवं सुविधा में विस्तार किया जा सके । कार्यक्रम का सञ्चालन विवेक शर्मा (पत्रकार) एवं सी.ए. नवनीत सोनी ने किया एवं आभार प्रदर्शन सरस्वती शिशु मंदिर हटरी विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री देवेंद्र कुमार सोनी द्वारा किया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *