छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपाबिलासपुरराजनीतिरायपुर

जांजगीर में लगे श्रीराम झंडा को उतारने कांग्रेस नेता ने लिखा पत्र, सर्व हिन्दु समाज ने जताई कड़ी आपत्ति, ऐनचुनाव समय इस कारनामे से बढ़ी कांग्रेस की मुश्किले

जांजगीर-चांपा। लोकसभा चुनाव के दौरान ऐनसमय पर शहर में लगे भगवान श्रीराम के झंडा और तोरण को कांग्रेस के एक नेता ने आचार संहिता का उल्लंघन बताया है। इतना ही नहीं, भगवान श्रीराम का झंडा और तोरण लगाने के लिए अनुमति नहीं होने की बात कही है। इस पर जांजगीर के सर्व हिन्दु समाज ने कड़ी आपत्ति जताई है और कहा कि भगवान श्रीराम पर किसी भी राजनीतिक पार्टी का एकाधिकार नहीं है। सर्व हिन्दु समाज ने एसडीएम को पत्र लिखकर इस मसले में कदम उठाने को कहा है।

कौमी एकता मंच के अध्यक्ष व कांग्रेस नेता विवेक सिंह सिसोदिया ने नगरपालिका सीएमओ को एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है लोकसभा चुनाव के तहत यहां 7 मई को मतदान होगा। क्षेत्र में आदर्श आचार संहिता प्रभावी है। इसके बावजूद बगैर अनुमति शहर के विभिन्न मार्गों और बिजली खंभों में जय श्रीराम छपा झंडा महीने भर से लगा है। पत्र में आगे लिखा है कौमी एकता मंच द्वारा उक्त जगहों पर तिरंगा, जय सतनाम लिखा सफेद झंडा, जय भीम लिखा नीला झंडा, जय सूर्यांश लिखा नीला व पीला झंडा लगाया जाना चाहिए। उन्होंने मतदान दिवस तक कौमी एकता द्वारा निर्धारित झंडों को लगाने की अनुमति मांगी है। इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए सर्व हिन्दु समाज जांजगीर ने एसडीएम को पत्र लिखकर इस दिशा में कदम बढ़ाने को कहा है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है हाल में भगवान श्रीरामनवी महोत्सव देश भर में धूमधाम से मनाया गया। जांजगीर में भी बीटीआई चौक से कचहरी चौक, नेताजी चौक से परशुराम चौक और नैला तक मुख्य मार्ग में हर साल हिन्दु नववर्ष एवं रामनवमी जन्मोत्सव पर ध्वज सर्व हिन्दु समाज द्वारा भगवान श्रीराम का झंडा और तोरण से सजाया जाता है। सर्व हिन्दु समाज ने कहा है शहर में परंपरा रही है ये ध्वज जन्माष्टमी के समय बदला जाता है। लेकिन उन्होंने निर्वाचन अधिकारी के पास एक शिकायत पस्तुत कर हमारे आदर्श श्रीराम का उल्लेख और श्रीराम छपे झंडे पर आपत्ति की है।

श्रीराम का झंडा कांग्रेस को नागवार
कांग्रेस नेता के पत्र से स्पष्ट है कि वो भगवान श्रीराम के झंडों को उतरवाकर वहां जय सतनाम लिखा सफेद झंडा, जय भीम लिखा नीला झंडा, जय सूर्यांश लिखा नीला व पीला झंडा लगाने के पक्ष में है। इससे जाहिर है एकबार पहले ही कांग्रेस की भगवान श्रीराम के प्रति दुर्भावना स्पष्ट होती है। पहले ही कांग्रेस समय समय पर भगवान श्रीराम के प्रति अपनी दुर्भावना देश को दिखा चुकी है। ऐनचुनाव के समय इस तरह का कारनामा भाजपा को बढ़त दिला सकता है। बहरहाल, देखना होगा प्रशासन इस मसले को किस तरह सुलझाइएगा।     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *