छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपा

मुलमुला पुलिस यातायात नियमों के प्रति लोगों को सचेत करने अपना रही गांधीगिरी, नियमों की धज्जियां उड़ाने वालों से हाथ जोड़कर किया जा रहा आग्रह, लोग बाइक में चार सवारी बैठने से नहीं आ रहे बाज

जांजगीर-चांपा। पुलिस प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद लोग वाहन चलाते समय यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाने से बाज नहीं आ रहे हैं, जिसका खामियाजा लोगों को जान देकर भुगतना पड़ रहा है। जिले की मुलमुला पुलिस ने लोगों को वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करने के लिए अनोखी पहल शुरू की है। इसके तहत यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों के समक्ष गांधीगिरी करते हुए हाथ जोड़कर समझाइश दिया जा रहा है, ताकि लोग जागरूक होकर सुरक्षित वाहन चलाएं।

भागमभाग भरी जिंदगी में समय किसी के पास नहीं है। कम समय में आगे निकलने की लोगों में होंड़ मची हुई है। यही आगे निकलने की चाह लोगों को इतना आगे पहुंचा दे रहा है, जिससे वापस आ पाना मुश्किल हो रहा है। यही वजह है कि जिले में दुर्घटना का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। पुलिस और यातायात पुलिस लोगों को वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करने हरसंभव प्रयास कर रही है। लगातार जागरूकता अभियान, स्कूल कॉलेजों में शिविर, पोस्टर पंप्लेटस सहित कई तरह का उपक्रम किया जा रहा है। इसके बावजूद लोग यातायात नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। जांजगीर पुलिस जहां यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों को गुलाब फूल देकर समझाइश दे रही है तो वहीं मुलमुला थाना प्रभारी की पहल पर यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को गांधीगिरी स्टाइल में हाथ जोड़कर आग्रह किया जा रहा है। बता दें कि हाल ही में पकरिया जंगल क्षेत्र में भीषण दुर्घटना हुई थी, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी। बताया जाता है यहां भी यातायात नियमों की अनदेखी करते हुए बाइक में चार लोग सवार होकर जा रहे थे। इस दुर्घटना के बाद काफी तनाव का माहौल था। यहां खूब नेतागिरी भी हुई थी। दिन रात चक्काजाम था, जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई थी। मुलमुला पुलिस यहां विशेष रूप से अभियान चलाकर लोगों को जागरूक कर रही है। थाना प्रभारी की पहल पर यहां जागरूकता अभियान चला रही पुलिस यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को गांधीगिरी स्टाइल में हाथ जोड़कर आग्रह कर रही है। लोग इतने लापरवाह हैं कि बाइक में चार सवारी बैठने से बाज नहीं आ रहे हैं। तस्वीर से समझा जा सकता है कि लोग वाहन चलाते समय किस तरह लापरवाही बरत रहे हैं। ऐसी स्थिति में पुलिस को सख्त से सख्त कदम उठाने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *