छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपाबिलासपुररायपुर

खाद्य अफसरों की लापरवाही से पीडीएस दुकानदारों की मनमानी चरम पर, पीडीएस दुकानों के खुलने और बंद होने का कोई समय ही नहीं, दुकानों का निरीक्षण करने वाला भी कोई नहीं…

जांजगीर चांपा। खाद्य विभाग की लापरवाही का खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। जिम्मेदारों की उदासीनता से जिले के कई पीडीएस दुकानों में लापरवाही चरम पर है। यहां पीडीएस दुकानों के खुलने और बंद होने का कोई समय ही नहीं है, जबकि उपभोक्ता खाद्यान्न लेने के लिए समय पर पहुंचकर घण्टों इंतजार करने मजबूर हैं।

सरकार ने गरीबों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिए चावल और शक्कर मुहैया कराती है। खाद्यान्न का वितरण पीडीएस दुकानों के माध्यम से होता है, लेकिन खाद्य विभाग की उदासीनता से दुकानदारों की मनमानी सिर चढ़कर बोल रही है। भले ही पीडीएस दुकान खोलने और बंद होने का सुबह और शाम के समय निश्चित है, लेकिन खाद्य विभाग के जिम्मेदारों का नियंत्रण इन दुकानदारों पर बिल्कुल भी नहीं रह गया है, जिसका दुकानदार भरपूर फायदा उठाते हुए लापरवाही बरतने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। पीडीएस दुकानों को खोलने और बंद करने में दुकानदार अपनी सुविधा देखते हैं। उन्हें उपभोक्ताओं की भावनाओं से कोई सरकार नहीं है। जब उन्हें समय मिलता है, तब ही दुकान खोलते है। कई दिन तो दुकान बंद भी रहती है। इस बीच उपभोक्ता खाद्यान्न लेने के लिए पीडीएस दुकानों का चक्कर लगाते रहते हैं। पीडीएस दुकानों के अनियमित खुलने से सबसे ज्यादा परेशानी उम्रदराज लोगों को होती है। क्योंकि उन्हें दुकान जाने और घर आने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार तो उन्हें बैरंग भी लौटना पड़ता है। लेकिन इन सब बातों और समस्याओं से जिम्मेदारों को कोई सरोकार नहीं है, जिसके चलते व्यवस्था जस की तस्वीर बनी हुई है और उपभोक्ताओं की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *